एमिटी और एचडीएफसी के मध्य एमओए पर हुआ हस्ताक्षर।

www.facewarta.in

नोएडा

राइजिंग बैंकर्स कार्यक्रम का संचालन करेगें एमिटी और एचडीएफसी बैंक

एचडीएफसी बैंक ने अपनी तरह के पहले और अनूठे राइजिंग बैंकर्स कार्यक्रम के लिए एमिटी के साथ समझौता ज्ञापन (एमओए) पर हस्ताक्षर किया और इस समझौता ज्ञापन (एमओए) समारोह का आयोजन एफ 1 ब्लाक सभागार, एमिटी विश्वविद्यालय में किया गया । इस कार्यक्रम का उददेश्य युवाओं के लिए बैकिंग और फाइनेंस क्षेत्र में रोजगार के अवसर उपलब्ध करना है। इस समझौता पत्र समारोह कार्यक्रम में एचडीएफसी बैंक के ब्रांच बैकिंग हेड (उत्तर) और सेल्स एक्सलेंस और ट्रांसफॉरमेशन के राष्ट्रीय प्रमुख अखिलेश रॉय, एमिटी शिक्षण समूह के संस्थापक अध्यक्ष डा अशोक कुमार चौहान, एमिटी विश्वविद्यालय उत्तरप्रदेश के चांसलर डा अतुल चौहान, एचडीएफसी की क्षमता निर्माण प्रमुख सुश्री बिजल दास, रिटेल ब्रांच बैंिकंग के सर्किल हेड अमन अवाल, एमिटी विश्वविद्यालय उत्तरप्रदेश की वाइस चांसलर डा (श्रीमती) बलविंदर शुक्ला उपस्थित थी।

एचडीएफसी बैंक के ब्रांच बैकिंग हेड (उत्तर) और सेल्स एक्सलेंस और ट्रांसफॉरमेशन के राष्ट्रीय प्रमुख अखिलेश रॉय ने संबोधित करते हुए कहा कि एचडीएफसी बैंक मे हम भारत की युवा प्रतिभा को आकार देने के लिए प्रतिबद्ध है जिससे उन्हे व्यापक प्रशिक्षण और कौशल कार्यक्रमों के माध्यम से भविष्य के लिए तैयार किया जा सके। हम ‘द राइजिंग बैंकर्स’ कार्यक्रम के लिए एमिटी सेे साझेदारी करके उत्साहित है। यह एक संयुक्त उद्योग अकादमिक पहल होगी जहंा बैंक चयन करेगा और एमिटी बैकिंग उम्मीदवारों को चयनित भूमिकाओं में प्रशिक्षित करेगी ताकि उन्हे रोजगार के लिए तैयार होने में मदद मिल सके।

एचडीएफसी की क्षमता निर्माण प्रमुख सुश्री बीजल दास ने कहा कि हम इस अवसर पर बेहद प्रसन्न है और उम्मीद करते है कि युवा इच्छुक स्नातको को बैकिंग और वित्त क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर प्रदान करेगें।

एमिटी शिक्षण समूह के संस्थापक अध्यक्ष डा अशोक कुमार चौहान ने संबोधित करते हुए कहा कि हम इस सहयोग से रोमांचित है क्योकि एमिटी और एचडीएफसी बैंक एक ही मिशन और विचारों को साझा करते है। एचडीएफसी बैंक की ंसंस्कृति ने आज देश के अग्रणी भारतीय बैंकों में से एक बनाया है। यह व्यक्ति में निहित मूल्य संस्कृति और सिद्धांत है जो उन्हे ज्ञान और शिक्षा के साथ सफल बनाते है और एमिटी भी उसका अनुपालन करता है।

एमिटी विश्वविद्यालय उत्तरप्रदेश के चांसलर डा अतुल चौहान ने संबोधित करते हुए कहा कि आज का यह कार्यक्रम सुखद और ऐतिहासिक है जिसने एचडीएफसी बैंक के साथ अ़ि़द्वतीय संबंधों को मजबूत किया है। यह कार्यक्रम युवाओं को शिक्षित करेगा और एमिटी से प्राप्त व्यवसायिक कौशलों के बाद उनके कैरियर में परिवर्तनकारी विकास होगा।

एमिटी विश्वविद्यालय उत्तरप्रदेश की वाइस चांसलर डा (श्रीमती) बलविंदर शुक्ला ने सभी का स्वागत करते हुए कहा एक नई पहल के लिए शिक्षा और उद्योग आगे आये है। शिक्षा और प्रशिक्षण सदैव कौशल को निखारते है और एमिटी द्वारा बड़ी संख्या में प्रशिक्षण कार्यक्रम का संचालन किया जाता है।

इस अवसर पर एमिटी ग्लोबल बिजनेस स्कूल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष यू रामाचंद्रन, एमिटी स्कूल ऑफ इंश्योरेंस बैकिंग एंड एक्चुरियल सांइसेस के निदेशक ए पी सिंह, एमिटी गु्रप वाइस चांसलर डा गुरिंदर सिंह और एमिटी सांइस टेक्नोलॉजी एंड इनोवेशन फांउडेशन के अध्यक्ष डा डब्लू सेल्वामूर्ती सहित कार्यक्रम में एचडीएफसी के क्लस्टर हेड कुलभूषण कुमार, सुश्री उवर्शी सिंह, सुश्री नेहा रॉय, सुश्री समीक्षा संाडले आदि लोग उपस्थित थे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *