आज के समय में विकास का रास्ता गांव से होकर जाता है -डॉ0 राकेश सिन्हा-सांसद राज्य सभा|

जी0एल0 बजाज संस्थान में इंटरनेशनल कान्फ्रेंस का आयोजन|

इंजीनियरिंग का क्षेत्र बहुत बड़ा है जहां पर नया करने की सम्भावना हमेशा बनी रहती है :पंकज अग्रवाल ।

Face Warta.in


ग्रेटर नोएडा:-
जी0एल0 बजाज इंस्टीट्यूट ऑफ टैक्नोलॉजी एण्ड मैनेजमेंट, ग्रेटर नोएडा में तीन दिवसीय इन्टरनेशनल कान्फ्रेंस ऑन मॉर्डन इलैक्टॉनिक्स डिवाइसस एण्ड कम्यूनिकेशन सिस्टमस (मैडकोम 2021) का आयोजन दिनांक 29.10.2021 से 31.10.2021 तक हुआ। जिसको काउंसिल ऑफ साइंस एण्ड टैक्नोलॉजी (सी0एस0टी0, यू0पी0) एवं रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डी आर डी ओ) भारत सरकार द्वारा प्रायोजित किया गया। कोविड-19 महामारी देखते हुये कान्फ्रेंस का आयोजन ऑनलाइन एवं ऑॅफलाइन दोनों मोड में किया गया। कान्फ्रेंस में संबधित लेखकों द्वारा 60 रिसर्च पेपर प्रस्तुत किये गये जिसमें मॉर्डन इलैक्टॉनिक्स उपकरणों एवं कम्यूनिकेशन विषय के विभिन्न आयाम बतायें गये।


इस अवसर पर चीफ गेस्टस के रुप में (प्रो0) डॉ0 राकेश सिन्हा-सांसद राज्य सभा एवं डॉ0 विनीत कंसल, कुलपति डॉ0 ए0पी0जे0 अब्दुल कलाम, प्राविधिक विश्वविद्यालय, लखनऊ गेस्ट ऑफ आर्नर के रुप में उपस्थित रहे। इस अवसर उन्होनें कहा कि आज वही कॉलिज आगे बढ़ रहे है जिन्होनें अपनी गुणवत्ता को बनाये रखा है या सुधारा है एवं उन्होंनंे कहा कि आज के समय में विकास का रास्ता गांव से होकर जाता है और इस तरह की कान्फ्रेंस का आयोजन कर आधुनिक शिक्षा को और प्रभावी बनाया जा सके। संस्थान के वाइस चैयरमेन पंकज अग्रवाल ने कहा कि इंजीनियरिंग का क्षेत्र बहुत बड़ा है जहां पर नया करने की सम्भावना हमेशा बनी रहती है।
संस्थान के निदेशक, डॉ0 राजीव अग्रवाल ने अतिथियों का स्वागत किया एवं समस्त डेलीगेट्स को कान्फ्रेंस की थीम से अवगत कराया। कान्फ्रेंस चेयर एवं विभागाध्यक्ष इलैक्ट्रॉनिक्स एण्ड कम्यूनिकेशन इंजीनियरिंग डॉ0 सतेन्द्र शर्मा ने प्रौद्योगिकी में रुरल डवलपमेंट के समर्थन पर प्रकाश डाला एवं आखिर में सभी वक्ताओं का आभार व्यक्त किया।
डॉ0 एस0सी0 शर्मा (रिजीनल साइंटिफिक ऑफिसर,सी0एस0टी0, यू0पी0) एवं डॉ0 राधेलाल (संयुक्त निदेशक, सी0एस0टी0, यू0पी0) विशेष आमंत्रित सदस्य रहे।
कान्फ्रेंस सेक्रेटरी डॉ0 दिनेश कुमार सिंह एवं कान्फ्रेंस कनवेनर डॉ0 पीयूष यादव ने बताया कि सम्मेलन में 200 शोध पत्र प्राप्त हुये जिसमें प्रमुख भारतीय संस्थान जैसे आई0आई0टी0, एन0आई0टी0, दिल्ली टैक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी, नेताजी सुभाष टैक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी एवं जर्मनी, यू0एस0ए0, इथोपिया, कनाडा सहित सात देशों से भी रिसर्च पेपर प्राप्त हुये जिसमें से 60 रिसर्च पेपर का चयन किया गया।
इस अवसर पर कॉलिज के डीन स्टेटजी डॉ0 शंशाक अवस्थी, समस्त एच0ओ0डी0 एवं कान्फ्रेसं आयोजन सदस्य मौजूद रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *