एमिटी विश्वविद्यालय मध्यप्रदेश के 11 वें स्थापना दिवस समारोह का आयोजन।


नोएडा/फेस वार्ता : एमिटी विश्वविद्यालय मध्यप्रदेश द्वारा शिक्षा के क्षेत्रों में नये कीर्तिमान और आयाम स्थापित करते हुए और उपलब्धियों को धारण करते हुए देश ही नही विश्व के पटल पर मुकाम हासिल किया गया है। आज एमिटी विश्वविद्यालय मध्यप्रदेश के ऑनलाइल 11 वें स्थापना दिवस समारोह का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में मध्यप्रदेश सरकार के उच्च शिक्षा मंत्री डा मोहन यादव, मध्य प्रदेश प्राइवेट यूनिवर्सिटी रेगुलेटरी कमीशन के चेयरमैन डा भरत शरण सिंह, एमिटी शिक्षण समूह के संस्थापक अध्यक्ष डा अशोक कुमार चौहान, एमिटी विद्यालय समूह की चेयरपरसन डा अमिता चौहान, एमिटी विश्वविद्यालय मध्यप्रदेश के चांसलर डा असीम चौहान और एमिटी विश्वविद्यालय मध्यप्रदेश के वाइस चांसलर लेफ्ट जनरल वी के शर्मा द्वारा उद्बोधन प्रदान किया गया।

एमिटी विश्वविद्यालय मध्यप्रदेश को उसके 11वें स्थापना दिवस पर मध्यप्रदेश सरकार के उच्च शिक्षा मंत्री डा मोहन यादव ने बधाई देते हुए एमिटी विश्वविद्यालय की उपलब्धियों की सराहना की। उन्होनें उच्च शिक्षण संस्थानों को नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के लागू करने का आह्वान किया, जिससे छात्रों के संपूर्ण विकास के लिए आधुनिक शिक्षा की तकनीक प्रदान करते समय भारतीय परंपराओं और मूल्यों को प्रदान करने पर जोर दिया जा सके। माननीय मंत्री ने कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के माध्यम से हमारे पारंपरिक मूल्यों को पुनर्जीवित किया जायेगा और हमारे युवा, नई राष्ट्रीय शिक्षा निती की सफलता में प्रमुख भूमिका निभायेगें। उन्होनें एमिटी विश्वविद्यालय से नए पाठयक्रम प्रारंभ करने, छात्रों की प्रतिभा को बढ़ावा देने और नई पहल और शिक्षा के क्षेत्र में आगे आने का आह्वान किया। उन्होनें कहा कि मुझे पूर्ण विश्वास है कि एमिटी विश्वविद्यालय शीघ्र विश्व के टॉप 100 विश्वविद्यालय में शमिल होगा।

मध्य प्रदेश प्राइवेट यूनिवर्सिटी रेगुलेटरी कमीशन के चेयरमैन डा भरत शरण सिंह ने 11वें स्थापना दिवस पर शुभकामना देते हुए कहा कि एमिटी विश्वविद्यालय प्रदेश नित नई उपलब्धियों को हासिल कर रहा है और प्रबंधन द्वारा छात्रो के संपूर्ण विकास हेतु कार्य किया जा रहा है।

एमिटी शिक्षण समूह के संस्थापक अध्यक्ष डा अशोक कुमार चौहान ने संबोधित करते हुए उन्होने छात्रों को विचार करने, नवोन्मेष करने और राष्ट्र निर्माण में सहयोग करने के लिए प्रोत्साहित किया। डा चौहान ने कहा कि छात्रों के लिए शोध क्षेत्र में ढेरों अवसर है और पूर्ण मनोयोग से मेहनत करने वाले छात्र एक दिन देश के लिए नोबल पुरस्कार हासिल करेगें। एमिटी विश्वविद्यालय मध्यप्रदेश में स्थापित ‘‘ सेंटर ऑफ एक्सलेंस फॉर केमिकल, बायोलॉजिकल, रेडियोलॉजिकल और न्यूक्लियर मिटिगेशन’’ की स्थापना पर डा चौहान ने कहा कि यह भारत में अपनी तरह का प्रथम सेंटर है जो कई मायनों में देश के विकास में योगदान हेतु विभिन्न क्षेत्रों में शोध और नवोन्मेष मे सहायक होगा।

एमिटी विद्यालय समूह की चेयरपरसन डा अमिता चौहान ने एमिटी स्कूल ग्वालियर के छात्रों की प्रस्तुती की सराहना की और कहा कि हम पांरपरिक मूल्यों और आधुनिक सुविधाओं के साथ शिक्षा प्रदान करते है। संस्कृत के एक श्लोक का भावार्थ बताते हुए उन्होनें कहा कि छात्रों को अभिभावकों, शिक्षकों और बड़ों का सदैव सम्मान करना चाहिए जिससे उनके जीवनकाल बढ़ता है और जीवन में ज्ञान, बुद्धि और प्रतिभा का विकास होता हैै। उन्होेनें छात्रों को ईमानदारी से कड़ी मेहनत करने के लिए प्रेरित किया और कहा कि जीवन एक चुनौती है और हर चुनौती का मुस्कान के साथ सामना करना चाहिए।

एमिटी विश्वविद्यालय मध्यप्रदेश के चांसलर डा असीम चौहान ने माननीय उच्च शिक्षा मंत्री को उनकी उपस्थिति के लिए धन्यवाद दिया जिसने एमिटी विश्वविद्यालय के छात्रों को आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होनें कहा कि हमारे विश्वविद्यालय समाजिक उत्थान के क्षेत्रों में कार्य कर रहे और छात्रों का संपूर्ण विकास, उनके लिए रोजगार उपलब्धता सुनिश्चित करने के साथ अनुसंधान और नवाचार को संचालित करता है जिसके लिए हम कड़ी मेहनत करते है जिससे हम विश्व के शीर्ष 100 संस्थानों में अपनी जगह सुनिश्चित कर सकें।

इस अवसर पर शोध स्मारक पुस्तिका ‘‘ ए डिकेड ऑफ मार्च टूवर्डस एक्सलेंस’’ का विमोचन भी माननीय उच्च शिक्षा मंत्री डा मोहन यादव द्वारा किया गया। बैच 2020 – 2021 के टॉपर 52 छात्रों को सर्टिफिकेट प्रदान किया गया।

इस अवसर पर एमिटी विश्वविद्यालय मध्यप्रदेश के पूर्व छात्रों ने एमिटी की सरहाना करते हुए, उन्हे प्लेसमेंट के पर्याप्त अवसर प्रदान करने और सफल कैरियर की दिशा में मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए धन्यवाद दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *