ग्रेटर नोएडा की हरियाली देखने सड़क पर उतरीं प्राधिकरण की नौ टीमें

ग्रेटर नोएडा/फेस वार्ता

14-जून-2022

रिपार्ट तैयार कर जल्द सीईओ को सौंपेंगी

अच्छे कॉन्ट्रैक्टर पुरस्कृत और खराब दंडित होंगे

ग्रेटर नोएडा। हरियाली ग्रेटर नोएडा की सबसे बड़ी पहचान है। इसे और बेहतर बनाने के लिए प्राधिकरण के सीईओ सुरेन्द्र सिंह के निर्देश पर अब तक का सबसे बड़ा अभियान शुरू किया गया है। शहर की हरियाली का जायजा लेने के लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की नौ टीमों ने एक साथ अलग -अलग एरिया का जायजा लिया। अपनी रिपोर्ट तैयार कर सीईओ को सौंपेगी। इस रिपोर्ट के आधार पर ग्रीनरी को और बेहतर बनाने पर काम होगा। रिपोर्ट में कार्यों की गुणवत्ता के आधार पर कॉन्ट्रैक्टरों को नंबर दिए जाएंगे। अधिक नंबर पाने वाले पुरस्कृत होंगे और खराब काम की वजह से कम अंक पाने वाले कॉन्ट्रैक्टर दंडित किए जाएंगे।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ व मेरठ मंडलायुक्त सुरेन्द्र सिंह ने पदभार संभालने के तुरंत बाद ग्रेटर नोएडा शहर का जायजा लिया था। सीईओ ने ग्रेटर नोएडा की हरियाली पर असंतोष जाहिर करते हुए और बेहतर बनाने के निर्देश दिए थे। सीईओ ने रोटरी व सेंट्रल वर्ज को भी तत्काल सुधारने की हिदायत दी थी। सीईओ ने इन कामों के लिए एक माह का समय दिया था। एक माह बाद सीईओ के निर्देश पर अब तक के विकास कार्यों का जायजा लेने के लिए प्राधिकरण की 10 टीमें अलग-अलग एरिया में घूमीं। एसीईओ अदिति सिंह ने सिग्मा वन, टू, थ्री व फोर, सेक्टर 36, 37, स्वर्णनगरी, पाई वन व टू आदि सेक्टरों का जायजा लिया। एसीईओ ने सेक्टर स्वर्णनगरी में ग्रीनरी पर संतोष जाहिर किया, लेकिन सेक्टर सिग्मा वन व फोर में खामियां दिखीं, जिस पर एसीईओ ने नाराजगी जताई। एसीईओ दीप चंद्र ने सेक्टर-एक, चार, 16 बी, 16सी, 60 मीटर रोड, टेकजोन फोर आदि जगहों पर ग्रीनरी का जायजा लिया। एसीईओ ने 60 मीटर रोड पर सेंट्रल वर्ज, रोड साइड ग्रीनरी आदि को तत्काल सुधारने के निर्देश दिए। एसीईओ अमनदीप डुली ने प्रबंधक वैभव नागर के साथ सेक्टर गामा वन व टू, बीटा वन व टू, अल्फा वन व टू, सिटी पार्क, स्टेडियम आदि का जायजा लिया। उन्होंने रोटरी पर संतोष जाहिर किया, लेकिन सेंट्रल वर्ज व रोड साइड ग्रीनरी विकसित न होने, हेज दुरुस्त न होने पर नाराजगी जाहिर की। इसी तरह ओएसडी सचिन कुमार ने सेक्टर-10 व 12, सेक्टर दो व तीन, डी पार्क, 130 मीटर चौड़ी रोड का जायजा लिया। महाप्रबंधक एके अरोड़ा ने वरिष्ठ प्रबंधक कपिल सिंह के साथ एक्सप्रेसवे, बिल्डर्स एरिया, पी-थ्री, पी-फोर, नॉलेज पार्क वन, टू व थ्री आदि का निरीक्षण किया। महाप्रबंधक आरके देव, उप महाप्रबंधक सीके त्रिपाठी, उप महाप्रबंधक केआर वर्मा, सहायक महाप्रबंधक केके यादव ने अलग-अलग एरिया का जायजा लिया। ये सभी अधिकारी रिपोर्ट बनाकर सीईओ को सौंपेंगे। इस रिपोर्ट के आधार पर ग्रेटर नोएडा की हरियाली को और दुरुस्त करने पर काम होगा। साथ ही रिपोर्ट में काम के आधार पर नंबर दिए जाएंगे। जिन ठेकेदारों ने अच्छा काम किया है उनको अधिक नंबर मिलेंगे और जिन्होंने खराब काम किया है उनको कम नंबर दिए जाएंगे। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ सुरेन्द्र सिंह ने कहा है कि जिन ठेकेदारों के एरिया में अच्छा काम हो रहा है उनको सराहा जाएगा। उनको सम्मानित किया जाएगा। वहीं जिन ठेकेदारों ने अच्छा काम नहीं किया है, उन पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.