नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड की 13वीं बोर्ड बैठक में डेवलपमेंट प्लान पर लगी मुहर।

गौतमबुद्ध नगर। भारत भूषण शर्मा

नॉएडा। नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड की 13वीं बोर्ड बैठक में डेवलपमेंट प्लान पर मुहर लगा दी गई है. डेवलपमेंट प्लान इस तरह से तैयार किया गया है कि 2024 में जेवर से पहली उड़ान शुरू हो जाए। इसकी जानकारी देते हुए यमुना एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी सीईओ की ओर से बताया गया है कि जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) का लेआउट प्लान पहले ही पास हो चुका हैं और अब डेवलपमेंट प्लान पर मुहर लग गई है. दरअसल वाईआईपीएल ने डेवलपमेंट प्लान बनाकर नियाल को सौंपा था. जिसके बाद नियाल ने इस डेवलपमेंट प्लान का तकनीकी परीक्षण कराया है. भारत सरकार की कंपनी इंजीनियरिंग इंडिया लिमिटेड ने इसका तकनीकी परीक्षण किया और जो कमियां थीं, उनको दूर करने के लिए कहा गया और वाईआईपीएल ने उन कमियों को दूर करके डेवलपमेंट प्लान नियाल को सौंप दिया है.


नोएडा एयरपोर्ट के पहले चरण में एक रनवे का निर्माण होगा। रनवे की लंबाई 3900 मीटर व चौड़ाई 45 मीटर होगी। इसी रनवे से 2024 में यात्री सेवाओं की शुरुआत होगी। एयरपोर्ट से शुरुआत में पचास लाख यात्री सालाना यात्रा करेंगे।
नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पहले चरण की लागत 5730 करोड़ रुपये होगी। पूरी योजना करीब तीस हजार करोड़ की है। टर्मिनल बिल्डिंग तीन लेवल होगी। एक से आगमन व दूसरे से प्रस्थान होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.