सरकार बनते ही किसानों की समस्याओं का करेगे समाधान:-दीपक भाटी चोटीवाला ।

फेस वार्ता।

भाजपा और तेजपाल नागर पर साधा निशाना

दिनांक 27/01/2022

दादरी विधान सभा से कांग्रेस प्रत्याशी दीपक भाटी चोटीवाला ने डोर टू डोर कैपेन के दौरान गांव मे लोगों जनसंपर्क किया।
चुनावी प्रचार मे जनसंपर्क के दौरान भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए किसानो के हित की बात कही है। उन्होने किसानों से कई वादे भी किए और कहा कि हमारे किसानों पर भाजपा की इस तानाशाही सरकार ने बहुत अत्याचार किए है। क्षेत्रीय विधायक और सांसद ने शासन-प्रशासन के द्वारा किसानों के साथ किए जा रहे अत्याचार के खिलाफ चू तक नहीं की। सरकार के खिलाफ चू करें भी तो कैसे करें कबाङ का धंधा जो चल रहा है। नही तो वह बन्द जायेगा। क्षेत्र के किसान अपने अपमान का बदला अब 10 फरवरी को वोट की चोट से लेंगे।
दीपक चोटीवाला ने दादरी विधानसभा क्षेत्र के खोदना कला, खोदना खुर्द, खेङी, भनौता, आमका, डेरी स्कैनर, खटाना, मिल्क, मुठियानी, धनुवास, उपलारसी, वीरपुरा, नूरपुर और छौलस आदि गांवो में डोर टू डोर जनसंपर्क कर लोगों से भारी बहुमत से विजयी बनाने की अपील की।


चुनाव प्रचार के दौरान दीपक भाटी ने किसानों से वायदा किया कि सरकार बनते ही सबसे पहले वो भाजपा की इस तानाशाही वाली सरकार में किसानों पर हुए अत्याचारों का बदला लेंगे। बिल्डर ने क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों और भ्रष्ट अधिकारियों की मिलीभगत से जिन किसानों की जमीन को बगैर मुआवजा दिए कब्जा किया है। किसानों की उन जमीनों को सबसे पहले खाली कराने का काम किया जाएगा। लेकिन किसी भी हाल में किसानों के साथ हुए अत्याचार को बर्दास्त नहीं किया जाएगा।
उन्होंने क्षेत्रीय विधायक पर हमला बोलते हुए कहा कि आज हमारे युवा बड़ी संख्या में बेरोजगार घूम रहे हैं। यह हमारे जनप्रतिनिधियों की नाकामी ही है। कंपनियों में भर्ती के लिए विधायक के यहां पर्ची काटी जाती है। जो बेरोजगार युवक वहां जाकर पर्ची कटवाएगा उसी को हायर – सैमसंग जैसी बड़ी कंपनियों में रोजगार मिलता है। बाकी के युवाओ को बेरोज़गार रहना पङता है।
किसानों के सम्मान की बात हो या सम्राट मिहिर भोज प्रतिमा पर नाम को लेकर हो या फिर युवाओं के रोजगार का मामला हो, हर स्तर पर समाज को नीचा दिखाने का काम किया है।
ग्रामीणों ने कांग्रेस प्रत्याशी चोटीवाला का जगह-जगह ढ़ोल बजाकर और माला पहनाकर जोरदार स्वागत किया। साथ ही दीपक भाटी जिंदाबाद के नारे लगाए। 
इस दौरान उनके साथ डोर टू डोर कैपेन मे मुख्य रूप से रामभरोसे शर्मा, पुरुषोत्तम नागर, अशोक पंडित, सतीश तोगड़, मुकेश तोगड़, भूपिन्दर तोगड़, विकास तोगड़, वसील अहमद, लाला गुर्जर, अरुण नागर, नंदकिशोर वर्मा, संजय नागर, सूर्य प्रताप सिंह सहित आदि सभी कार्यकर्ता ने जनसंपर्क किया।


 

Leave a Reply

Your email address will not be published.