एनआईईटी ग्रेटर नोएडा के बायोटेक्नॉलॉजी विभाग के द्वारा एआईसीटीई प्रायोजित पाँच दिवसीय फ़ैकल्टी डेव्लपमेंट प्रोग्राम का आयोजन|

एनआईईटी ग्रेटर नोएडा के बायोटेक्नॉलॉजी विभाग के द्वारा एआईसीटीई प्रायोजित पाँच दिवसीय फ़ैकल्टी डेव्लपमेंट प्रोग्राम का आयोजन

ग्रेटर नोएडा: नोएडा इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी ग्रेटर नोएडा के के द्वारा एआईसीटीई ट्रेनिंग एंड लर्निंग अटल से प्रायोजित प्रिसिजन एग्रीकल्चर एंड नैनो टेक्नोलॉजी पर एक सप्ताह का फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम मेकिंग एग्रीकल्चर फ्यूचर रेडी 20 जनवरी 2022 को प्रारम्भ किया गया है।

इस एफडीपी के 14 सत्र हैं जिसमें विभिन्न शोध केंद्रों विश्वविद्यालयों और कंपनियों के प्रख्यात वैज्ञानिक प्रोफेसर और निदेशक अपने विषयों से संबन्धित चर्चा करेंगे।
पहले दिन एनआरसी के पूर्व निदेशक डॉ विशाल नाथ,नोडल अधिकारी, आईएआरआई, हजारीबाग ने उत्पादकता और गुणवत्ता में सुधार के लिए आधुनिक फल वृक्षारोपण अभ्यास और चंदवा प्रबंधन की ज्यामिति में परिशुद्धता पर व्याख्यान दिया। दिन के दूसरे सत्र में डॉ. रमेश के भारद्वाज, प्रधान वैज्ञानिक ,सब्जी विज्ञान विभाग, डॉ. वाईएस परमार , बागवानी और वानिकी विश्वविद्यालय,नौनी-सोलन (हि. प्र. ) ने कुछ महत्वपूर्ण उच्च मूल्य की संरक्षित खेती के विषय पर प्रतिभागियों के साथ अपनी विशेषज्ञता साझा की। डॉ. पंकज कुमार त्यागी प्रोफेसर एवं डीन, अनुसंधान एवं विकास,नोएडा इंस्टिट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, कृषि में नैनो प्रौद्योगिकी अनुप्रयोगों पर अपने विचार एवं शोध प्रस्तुत किए।


एफडीपी के दूसरे दिन रत्नाकर राय,निदेशक बार्टन ब्रीज, पूर्णा एग्रीसिस्टम्स और ग्रीन एक्सेलेरेटर्स ने भारत में नियंत्रित पर्यावरण कृषि के व्यावसायीकरण पर अपने विचार साझा किए। दूसरे दिन के दूसरे सत्र में ए प्रोफेसर दिनेश कुमार,प्रोफेसर और डीन अकादमिक, केंद्रीय विश्वविद्यालय हरियाणा ने जीनोमिक्स और सटीक कृषि के भविष्य के बारे में चर्चा की।
दिन के अंतिम सत्र में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, वाराणसी में प्रोफेसर और रामानुजन फेलो डॉ. प्रांजल चंद्र ने “नैनबायोसेंसर : कृषि में डिजाइन और निहितार्थ पर अपना व्याख्यान प्रस्तुत किया।
पूरे देश से कुल 138 फ़ैकल्टी मेम्बर्स ने इस एफडीपी के लिए नामांकन किया है। इस कार्यक्रम के समन्वयक डॉ अरविंद कुमार ने स्वागत भाषण के साथ कार्यक्रम की शुरुआत की और प्रतिभागियों को एफडीपी के बारे में जागरूक किया। कार्यक्रम का संचालन डॉ.प्रतिभा पांडे ने किया। डॉ. रश्मि मिश्रा तथा अन्य शिक्षकों ने इस आयोजन के सफल संचालन में मदद की है। यह एफडीपी 24 जनवरी 2022 तक चलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.