बायोफैक इंडिया 2021 का 13वां संस्करण 28 से 30 अक्टूबर तक किया जाएगा आयोजित।

फेस वार्ता। भारत भूषण शर्मा

तेजी से विकसित हो रहा है भारत का जैविक बाजार

जैविक कंपनियों और हितधारकों को एक साथ लाने की उम्मीद है।

ग्रेटर नॉएडा – बायोफैक  इंडिया का 13वां संस्करण 28 से 30 अक्टूबर तक इंडिया एक्सपो मार्ट, ग्रेटर नोएडा, दिल्ली एनसीआर  में आयोजित किया जाएगा।  कृषि और  खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एपीडा) के सहयोग से नूर्नबर्ग मेस्से इंडिया द्वारा आयोजित, इस आयोजन से प्रमुख जैविक कंपनियों और हितधारकों को एक साथ लाने की उम्मीद है।

नूर्नबर्ग मेस्से इंडिया  की मैनेजिंग  डायरेक्टर  सोनिया पराशर ने  इस आयोजन के विकास को लगातार सकारात्मक बताते हुए कहा कि  आगामी संस्करण के शुरुआत की प्रतीक्षा कर रहे हैं । 2009 में  पहले आयोजन की शुरुआत से लेकर अब तक बायोफैक इंडिया ने खुद को एक मजबूत ब्रांड के रूप में स्थापित किया है। यह जैविक क्षेत्र के लिए एक अनिवार्य घटना है और उद्योग के प्रति हमारी प्रतिबद्धता का एक वादा है, जो एक नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म बनाने के लिए संवाद और व्यापार को बढ़ावा देता है।

 उन्होंने कहा कि भारत का जैविक बाजार तेजी से विकसित हो रहा है, और वित्तीय  वर्ष 2020 में 177.14 मिलियन डालर से से वित्तीय वर्ष 2026 में 553.87 मिलियन डालर तक बढऩे का अनुमान है, जो 2026 तक 21 प्रतिशत के साथ  आगे बढ़ रहा है। भारत सरकार सब्सिडी के माध्यम से जैविक खेती को बढ़ावा दे रही है और पारिस्थितिक उत्पादन विधियों का उपयोग करके अधिक क्षेत्रों को खेती के तहत लाया जा रहा है।

यह संस्करण हितधारकों को व्यक्तिगत रूप से बातचीत करने, प्रासंगिक व्यावसायिक भागीदारों से मिलने, नवीनतम विकास के बारे में जानने और सबसे महत्वपूर्ण रूप से इस बढ़ते और आशाजनक क्षेत्र के आसपास संवाद और चर्चा को फिर से शुरू करने का अवसर खोजने का एक आदर्श अवसर प्रदान करेगा।

 भारत में संसाधनों, नीतियों और उपयोगकर्ताओं की एक पीढ़ी के मामले में एक अनुकूल पारिस्थितिकी तंत्र है जो तेजी से जैविक उत्पादों की ओर रुख कर रहे हैं। बायोफैच इंडिया एक महत्वपूर्ण मंच है जो उद्योग को एक साथ लाता है, संवाद को बढ़ावा देता है और नेटवर्किंग की सुविधा प्रदान करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.