गुर्जर सम्राट मिहिर भोज के नाम पर कालिख पोतने के संबंध में एडवोकेट रविंद्र भाटी ने प्रधान मंत्री को लिखा शिकायत पत्र।

फेस वार्ता

करोड़ों गुर्जर समाज व भारतवासियों की आस्था के प्रतीक गुर्जर सम्राट मिहिर भोज के नाम पर कालिख पोतने के संबंध में शिकायत पत्र
आदरणीय प्रधानमंत्री जी 22 सितंबर को प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुर्जर विद्या सभा द्वारा आयोजित स्वपोषी संस्थान गुर्जर मिहिर भोज डिग्री कॉलेज में मूर्ति अनावरण करने आए थे और मुख्यमंत्री जी के प्रोग्राम की वजह से गुर्जर सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा के पास पर्याप्त और पुख्ता सुरक्षा मौजूद थी लेकिन 21 सितंबर की रात को भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के कुछ पुलिस अधिकारियों की मिलीभगत से गुर्जर सम्राट मिहिर भोज जी के नाम पर कालिख पोत दी जिससे पूरे देश के देशभक्त गुर्जर समाज की भावनाओं को ठेस पहुंची है

और इस प्रकरण से पूरे गुर्जर समाज में सर्व समाज में आक्रोश है गुर्जर प्रतिहार वंश ने 730 ईसवी से 1036 ईसवी तक विदेशी हमलावरों से देश की सीमाओं की रक्षा की और आपने भी ग्रेटर नोएडा स्थित दीनदयाल उपाध्याय संस्कृति संग्रहालय में गुर्जर सम्राट मिहिर भोज जी की मूर्ति का अनावरण किया था पूर्व प्रधानमंत्री स्व श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी ने अक्षरधाम में भी गुर्जर सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा का अनावरण किया था हजारों साल के गौरवशाली इतिहास को साजिश के तहत मिटाने का प्रयास किया जा रहा है अतः उक्त प्रकरण की जांच गहनता से जांच हो और दोषी नेताओं और अधिकारियों के खिलाफ एफ आई आर दर्ज करके कानूनी कार्रवाई की जाए साथ में मुख्यमंत्री जी की भूमिका की जांच हो और जेवर एयरपोर्ट का नाम गुर्जर सम्राट मिहिर भोज जी के नाम पर रखा जाए और साथ ही 1857 के संग्राम में देश के ऊपर प्राण निछावर करने वाले लगभग 84 शहीदों की प्रतिमा लगाकर शहीद स्थल बनाया जाए इसमें प्रमुख रूप से राव उमराव भाटी जी दरियाव सिंह नागर जुनेदपुर मखालिस जमीदार लुहारली , फत्ता नंबरदार चिढैरा , झंडू जमीदार हिम्मत सिंह नरौली करीम बक्श खान तिलबेगमपुर इंदर सिंह भोलू सिंह हरदयाल सिंह आदि प्रमुख थे
एडवोकेट रविंद्र भाटी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अखिल भारतीय गुर्जर परिषद, सदस्य गुर्जर विद्या सभा

Leave a Reply

Your email address will not be published.