ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के महाप्रबंधक ने किया सेक्टरों व गांवों का दौरा।

ग्रेनोवासियों को जल्द मिलने लगेगा गंगाजल


-परियोजना पर 95 फीसदी से अधिक काम हुआ, अगले माह तक पूरा

ग्रेटर नोएडा। लंबे समय से गंगाजल का इंतजार कर रहे ग्रेटर नोएडावासियों के लिए राहत भरी खबर है। गंगाजल परियोजना का काम एक माह में पूरा हो जाएगा। इसके बाद ग्रेटर नोएडा  में गंगाजल की आपूर्ति शुरू हो जाएगी।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी नरेंद्र भूषण के निर्देश पर गंगाजल प्रोजेक्ट के निर्माण में और तेजी लाने के लिए शनिवार को परियोजना विभाग के महाप्रबंधक एके अरोड़ा  ने सभी संबंधित महकमों के प्रतिनिधियों के साथ  बैठक की। बेहतर तालमेल बनाकर अधूरे काम को शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए। बैठक में प्राधिकरण के उप महाप्रबंधक सलिल यादव के अलावा सिंचाई विभाग, उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम और बिजली व सिविल के कार्य  कर रहीं फर्मों के प्रतिनिधि भी शामिल हुए। बैठक में महाप्रबंधक ने इस परियोजना का शत-प्रतिशत काम शीघ्र पूरा करने  के निर्देश दिए। बिसाहड़ा के पास इंडियन ऑयल की लाइन के नीचे कार्य करने की अनुमति मिल गई है। गौरतलब है कि गंग नहर के जरिए ग्रेटर नोएडा तक 85 क्यूसेक गंगाजल लाने की परियोजना पर तेजी से काम चल रहा है। करीब 800 करोड़ रुपये की इस परियोजना को बहुत जल्द पूरा कर जलापूर्ति शुरू करने की तैयारी है। इससे ग्रेटर नोएडा के निवासियों को मीठा पानी मिल सकेगा। फिलहाल ग्रेटर नोएडा में भूजल से जलापूर्ति की जा रही है। 


ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के महाप्रबंधक एके अरोड़ा ने शनिवार को सेक्टर ईकोटेक-8, 9, 10 , 11 और डाबरा गांव का निरीक्षण किया। इन जगहों पर सड़कें, ड्रेनेज, जलापूर्ति, स्ट्रीट लाइट, सफाई व्यवस्था और उद्यान के कार्यों  का निरीक्षण किया। उद्यमियों व  ग्रामीणों से बात कर उनकी समस्या सुनीं। इन सेक्टरों व गांवों की समस्या को शीघ्र हल करने के निर्देश दिए। क्षतिग्रस्त सड़कों की रिसर्फेसिंग जल्द करने को कहा।

जलापूर्ति व सीवर से जुड़ी समस्याओं को भी  तत्काल दूर करने के निर्देश दिए।


Leave a Reply

Your email address will not be published.