अन्नदाताओ के साथ खड़े होकर उनका हौसला बढ़ाये:एडवोकेट चांदराम विश्वकर्मा।

फेसवार्ता / भारत भूषण शर्मा

दिल्ली : एडवोकेट चांदराम विश्वकर्मा ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई की समाधि स्थल पर पहुँचकर अन्नदाताओ की स्तिथि को देखते हुए नया साल ना मनाने का प्रण लिया I

दिल्ली सरकार के एडवोकेट चांदराम विश्वकर्मा ने कहाँ कि मैंने अटल बिहारी वाजपेई की समाधि पर आकर उनकी आत्मा से प्रार्थना कि की केंद्र में बैठी भाजपा सरकार की आँखों पर बंधी पट्टी को खोल दे जिससे उन्हें दिखाई दे की आज अन्नदाता की स्तिथि क्या है ?

यहाँ से मैं कुछ संदेश सभी भारतवासियों, सामाजिक संस्थाओ और राजनीति पार्टी को देना चाहता हूँ कि हमारा किसान जो अन्नदाता है I वह धुप और बरसात की परवाह किये बिना जमीन को सींचकर और अपना पसीना बहाकर हमारे लिए अन्न को पैदा करता है I

अन्नदाता भूखा प्यासा 1 महीने से दिल्ली की सीमाओं पर इतनी ठंड में बैठा हुआ है I अन्नदाता काले कानून को वापस लेने की मांग को लेकर इन तीनो कृषि कानूनों का विरोध कर रहा है I

तीनों कृषि बिलो ने किसान, मजदूर और आम आदमी के जीवन को तबाह कर दिया है।

मेरा यहाँ आने का उद्देश्य यह है कि हम आने वाला नया साल 2021 नहीं मनाएँगे और मैं सभी भारतवासियो से अनुरोध करता हूँ की इस वर्ष को हम धूम धाम से ना मनाएँ और इस मुश्किल वक़्त में अन्नदाताओ के साथ खड़े होकर उनका हौसला बढ़ायेI

Leave a Reply

Your email address will not be published.