ब्रेस्ट कैंसर के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए आज इकरिस प्रोमो रन का आयोजन किया गया।

भारत में ब्रेस्ट कैंसर के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए नोएडा में ‘इकरिस प्रोमो रन’ का किया गया आयोजन

इकरिस द्वारा चलाई जा रही प्रोमो रन की आख़िरी दौड़ 2 अक्टूबर को आयोजित होगी।

दौड़ के बाद मैक्स हॉस्पिटल की आंकोलॉजी प्रमुख डॉ मीनू वालिया के साथ ब्रेस्ट कैंसर पर चर्चा आयोजित की गई।

नोएडा । फेस वार्ता:- देश में ब्रेस्ट कैंसर के प्रति जागरूकता फैलाने की अपनी पहल को आगे बढ़ाते हुए भारत की प्रमुख दुर्लभ बीमारियों के लिए दवा बनाने वाली कम्पनी इकरिस फार्मा ने आज ‘प्रोमो रन’ का आयोजन किया। यह रन (दौड़) हर साल अक्टूबर महीने में मनाए जानें वाले ब्रेस्ट कैंसर जागरुकता माह के तहत आयोजित की गई। यह इवेंट नोएडा के मशहूर बायोडायवर्सिटी पार्क में आयोजित किया गया। दिलचस्प बात यह रही कि प्रोमो रन में 5 किमी और 10 किमी की दौड़ के रूप में दो इवेंट थे। इसमें दौड़ने वालों को या तो पांच किलोमीटर पर रुकने का विकल्प मिलता था, या पहले पांच किलोमीटर की दूरी पूरी करने के बाद पांच किलोमीटर तक और दौड़ना जारी रखना था। 150 से ज्यादा लोगों ने इस दौड़ में हिस्सा लिया। इस दौड़ प्रतियोगिता का आयोजन एक बड़ी सफ़लता साबित हुआ। प्रख्यात डॉक्टरों, हेल्थ प्रोफेसनल्स, कैंसर केयर स्पेशलिस्ट और समाज के विभिन्न वर्ग के लोगो ने इस इवेंट में हिस्सा लिया। यह इवेंट देश में ब्रेस्ट कैंसर जागरूकता को बढ़ावा देने के लिए इकरिस के अभियान में एक महत्त्वपूर्ण सफ़लता है।

पिछले महीने इकरिस फार्मा ने एक वीडियो रिलीज़ करके इकरिस रन का अयोजन किया था। इस पहल के अगले फेज में अंतिम दौड़ का आयोजन राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती पर 2 अक्टूबर को होगा।   इकरिस फार्मा नेटवर्क के सीईओ प्रवीण सीकरी ने बताया, “हम सभी आयु वर्ग और विभिन्न क्षेत्रों के लोगों द्वारा इस इवेंट में इतने उत्साह के साथ हिस्सा लेने पर बहुत खुश हैं। लोगों के इस उत्साह का मतलब है कि आम लोगों के बीच ब्रेस्ट कैंसर एक प्रमुख स्वास्थ्य समस्या के रूप मे तेजी से बढ़ रहा है। प्रोमो रन में हिस्सा लेने वाले लोग ही इस पहल के ब्रांड एंबेसडर हैं। ये सभी एक समाज के रूप में ब्रेस्ट कैंसर के खतरे के प्रति जानकारी को बढ़ावा देने और लोगों को जागरूक करने के लिए काम कर रहे हैं। सोशल मीडिया के इस युग में मुझे यकीन है कि इनमें से कई प्रतिभागी इस अभियान के बारे में अच्छे संदेश लोगों में फैलाएंगे। इसलिए मैं उन सभी को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने दौड़ में हिस्सा लिया। कई लोग तो ऐसे भी थे जो दौड़ नहीं सकते थे लेकिन ब्रेस्ट कैंसर पर होने वाली चर्चा में शामिल हुए। मैं डॉ मीना वालिया को इस तरह की गंभीर बीमारी पर अपनी बहुमूल्य जानकारी साझा करने के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं।” मैक्स हॉस्पिटल की हेमेटोलॉजी एंड एचओडी मेडिकल आंकोलॉजी डिपार्टमेंट के डॉयरेक्टर और भारत की पहली डीएनबी मेडिकल आंकोलॉजिस्ट डॉ (प्रोफेसर) मीना वालिया ने कहा, “अगस्त में आयोजित हुए दौड़ के इस इवेंट को एक बार और जारी रखते हुए मै बहुत खुश और सम्मानित महसूस कर रही हूं कि इस पहल के माध्यम से ब्रेस्ट कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाई जा रही है। इस इवेंट में ब्रेस्ट कैंसर पर बहुत ही महत्त्वपूर्ण चर्चा हुई। हमने इस चर्चा में उन पहलुओं पर बात की, जिसकी वजह से ब्रेस्ट कैंसर को रोकने मे बाधा आती है। मैं महिलाओं को इस बीमारी को लेकर ख़ास तौर पर आगाह करना चाहूंगी। यहां तक कि अगर उनमें ब्रेस्ट कैंसर का हल्का सा भी लक्षण जैसे कि स्तनों या आर्म पिट में गांठ या सूजन महसूस होने, स्तन या निप्पल की त्वचा का लाल होना, निप्पल से असामन्य द्रव का बहना और स्तन में दर्द होने जैसी समस्या महसूस हो तो तुरन्त किसी कैंसर स्पेशलिस्ट को दिखाएं। जिन लोगों के परिवार में किसी को पहले यह बीमारी हो चुकी हैं वे ज्यादा सावधान और सतर्क रहें। इसके अलावा स्वस्थ लाइफ़स्टाइल जिएं ताकि इस तरह की बीमारी आपके शरीर मे न हो पाए।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.