खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग के अधिकारियों ने अभियान चलाकर जनपद के 5 प्रतिष्ठानों से किये 7 खाद्य पदार्थ के नमूने संग्रहित।

गौतमबुद्धनगर । फेस वार्ता:-

रक्षाबंधन के पर्व को दृष्टिगत रखते हुए जनपद वासियों को शुद्ध खाद्य पदार्थ उपलब्ध कराने के उद्देश्य से जिला अधिकारी के नेतृत्व खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग एक्शन में।

उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की मंशा के अनुरूप एवं जिला अधिकारी के नेतृत्व में जनपद वासियों को सुरक्षित खाद्य पदार्थ एवं पेय पदार्थ जैसे मिठाई दूध व दूध से बने पदार्थ उपलब्ध कराने के उद्देश्य से जनपद का खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग के अधिकारीगण निरंतर स्तर पर अभियान चलाकर कार्यवाही सुनिश्चित कर रहे हैं। इसी क्रम में विगत दिवस सहायक आयुक्त खाद्य/अभिहित अधिकारी गौतमबुद्ध नगर, अर्चना धीरान के आदेश पर अक्षय कुमार गोयल, मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी, गौतमबुद्ध नगर के नेतृत्व में खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन, गौतमबुद्ध नगर की टीम द्वारा श्री बीकानेर स्वीट्स, मेन रोड, कासना, ग्रेटर नोएडा से खोया का एक नमूना तथा छेना रसगुल्ला का एक नमूना संग्रहित किया गया। साथ ही अस्वच्छकर अवस्था में होने के कारण 150 किलोग्राम छेना रसगुल्ला का नष्टीकरण किया गया, जिसका मूल्य ₹39000 था। इसी प्रकार पारसनाथ इंटरप्राइज, साइट 4, यूपीएसआईडीसी, ग्रेटर नोएडा से रोस्टेड वर्मीसैली का एक नमूना, बीकानेर स्वीट्स एंड बेकर्स, अंसल प्लाजा, तुगलपुर से घेवर मिठाई का एक नमूना, अग्रवाल स्वीट्स एंड बेकरी, नया बास से छेना रसगुल्ला का एक नमूना तथा हरि ओम स्वीट्स, नया बास, नोएडा से एक बर्फी का नमूना संग्रह किया गया। मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि उक्त कार्यवाही के दौरान कुल 7 नमूने संग्रहित किए गए।

उन्होंने बताया कि खाद्य तेलों के विशेष निगरानी अभियान के अंतर्गत अपना बाजार, इंद्र बाजार सेक्टर 27 नोएडा से 1 सर्विलांस नमूना संग्रहित किया गया।इस महत्वपूर्ण कार्यवाही के दौरान टीम में खाद्य सुरक्षा अधिकारी आरपी सिंह, राम नरेश, सैनिक सिंह, आशुतोष कुमार कुमार, विशाल गुप्ता तथा राकेश सरकारिया सम्मिलित रहे। मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी अक्षय गोयल ने कहा कि आगे भी जनपद में जिलाधिकारी सुहास एलवाई के नेतृत्व में जनपद वासियों को सुरक्षित खाद्य पदार्थ उपलब्ध कराने के उद्देश्य से अभियान चलाकर मिलावटी खाद्य पदार्थ बनाने वाले प्रतिष्ठानों पर कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी ताकि जनपद वासियों को सुरक्षित खाद्य पदार्थ उपलब्ध कराया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.