सावन के पहले सोमवार पर बना ‘शोभन योग’! ऐसे करें भोलेनाथ को प्रसन्‍न, होगी अपार कृपा। अशोकानंद

ॐ नमः शिवाय

सावन के पहले सोमवार पर बना ‘शोभन योग’! ऐसे करें भोलेनाथ को प्रसन्‍न, होगी अपार कृपा

सावन महीना शुरू हो चुका है. 18 जुलाई को सावन महीने का पहला सोमवार है. इस दिन बेहद दुर्लभ संयोग बन रहा है. पहले सावन सोमवार को शोभन योग बन रहा है.

भोलेनाथ का प्रिय सावन महीना शुरू हो चुका है. इस महीने के सभी सोमवार को बहुत महत्‍वपूर्ण माना गया है. सावन सोमवार भोलेनाथ को प्रसन्‍न करने के लिए सर्वश्रेष्‍ठ दिन होते हैं. कल यानी कि 18 जुलाई 2022 को सावन महीने का पहला सोमवार है. इस साल सावन का पहला सोमवार और भी खास हो गया है क्‍योंकि इस दिन शोभन योग बन रहा है. सावन सोमवार को शोभन योग बनना दुर्लभ संयोग है. इस शुभ योग में पूजा करने से परम सौभाग्‍य की प्राप्ति होती है. इसके लिए सही विधि से पूजा करना भी महत्‍वपूर्ण है.

सावन सोमवार पूजा विधि 

सावन सोमवार के दिन सुबह जल्‍दी स्‍नान करके साफ कपड़े पहन लें. सावन सोमवार का व्रत रखें. व्रत रख रहें तो भगवान के सामने हाथ जोड़कर व्रत का संकल्‍प लें. इसके बाद घर के मंदिर में पूजा कर रहे हैं तो सभी भगवानों का गंगाजल से स्‍नान करें. फिर भगवान शिव का जलाभिषेक करें. हो सके तो पंचामृत भी चढ़ाएं. इस दौरान ‘ऊं नमः शिवाय’ मंत्र का जाप करते रहें. इसके बाद भोलेनाथ को सफेद चंदन, अक्षत, सफेद फूल, बेल पत्र, धतूरा, सुपारी आदि चढ़ाएं. शमी के पत्‍ते भी चढ़ाएं ऐसा करने से शनि दोष दूर होंगे.

शिव जी की आरती जरूर करें

भगवान को फल-मिठाइयों का भोग लगाएं. शिव जी को दूध-चावल का भोग लगाना अच्‍छा माना जाता है. फिर शिव चालीसा का पाठ पढ़ें. सावन सोमवार की कथा पढ़ें या सुनें. आखिर में भगवान शिव की आरती जरूर करें. सभी को पूजा का प्रसाद बांटें. जय भोले नाथ

ॐ नमः शिवाय का जाप करें

आचार्य अशोकानंद महाराज

संस्थापक/ राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री मोहन मन्दिर एवं योग आश्रम

ट्रस्ट बिसरख धाम (रजिo)

राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, हिन्दू रक्षा सेना (भारत)

Leave a Reply

Your email address will not be published.