ग्रेटर नोएडा 09जुलाई 2022/फेस वार्ता

ग्रेनो प्राधिकरण ने दो और फर्मों पर लगाया डेढ़ लाख का जुर्माना 

80 व 60 मीटर रोड के अनुरक्षण कार्य में देरी पर हुई कार्रवाई

3 दिन में कार्य दुरुस्त न होने पर काली सूची में डालने की चेतावनी

ग्रेटर नोएडा। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण दो और फर्मों पर डेढ़ लाख रुपए का जुर्माना लगाया है। 80 व 60 मीटर रोड के अनुरक्षण कार्य में देरी के चलते यह कार्रवाई की गई है। दोनों फर्मों को 3 दिन में सभी अनुरक्षण कार्य दुरुस्त करने के निर्देश दिए गए हैं। अन्यथा काली सूची में डालने की चेतावनी दी गई है।

दरअसल बीते दिनों ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ व मेरठ मंडलायुक्त सुरेन्द्र सिंह ने ग्रेटर नोएडा के अलग-अलग जगहों का निरीक्षण किया था, जिसमें सीईओ ने अनुरक्षण कार्य ठीक न मिलने पर नाराजगी जाहिर की थी और सभी अनुरक्षण कार्य शीघ्र दुरुस्त करने के निर्देश दिए थे। सीईओ के निर्देशों के क्रम में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के महाप्रबंधक एके अरोड़ा ने 80 मीटर रोड के लिए ठाकुर कंस्ट्रक्शन को 3 दिन में कार्य करने के निर्देश दिए थे। इसी तरह 60 मीटर रोड के अनुरक्षण कार्यों को दुरुस्त करने के लिए गुड इंटरप्राइज को 3 दिन का समय दिया था। शुक्रवार को महाप्रबंधक परियोजना की समीक्षा के दौरान 80 मीटर रोड पर अनुरक्षण कार्य अभी भी अधूरा मिले। आरसीसी पोस्ट तार फेंसिंग क्षतिग्रस्त मिले, जिसके चलते ठाकुर कंस्ट्रक्शन पर एक लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया है। इसी तरह 60 मीटर रोड के अनुरक्षण कार्य की समीक्षा की तो आरसीसी पोस्ट, तार फेंसिंग , कर्व स्टोन, रोड साइड पटरी पर झाड़ियों की कटिंग आदि कार्य अधूरे मिले, जिसके चलते गुड इंटरप्राइज पर 25 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है। वहीं होंडा सीएल जंक्शन से 130 मीटर रोड तक अनुरक्षण कार्य पर भी दुरुस्त नहीं मिले, जिसके चलते गुड इंटरप्राइज और ही 25 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया है। इन फर्मो को अधूरे कार्यों को 3 दिन में दुरुस्त करने के निर्देश दिए हैं। अन्यथा काली सूची में डालने की चेतावनी दी है।

सभी अनुरक्षण कार्य एक सप्ताह में पूरे न होने पर होगी कार्रवाई

प्राधिकरण के महाप्रबंधक परियोजना एके अरोड़ा ने आरक्षण कार्यों में लगी सभी फर्मों को एक सप्ताह में सभी अधूरे कार्य पूरे करने के निर्देश दिए हैं। जहां भी तार फेंसिंग, कर्व स्टोन, आरसीसी पोस्ट आदि क्षतिग्रस्त हैं, उनको दुरुस्त करने के लिए कहा है। इसके बाद सभी मार्गों पर अनुरक्षण कार्यों का जायजा लिया जाएगा। अगर कार्य दुरुस्त न पाये गये तो संबंधित फर्मों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। जीवन के निर्देश पर मेंटेनेंस के कार्य और तेज हो गए हैं। टूटे हुए कर्व स्टोन बदले जा रहे हैं । टूटे तार फेंसिंग को दुरुस्त किया जा रहा है। सेंट्रल वर्ज को पेंट किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.