स्ट्रीट लाइट की केबल या पैनल को क्षति पहुंचाया तो होगी एफआईआर।

फेस वार्ता:-

स्ट्रीट लाइट की केबल या पैनल को क्षति पहुंचाया तो होगी एफआईआर

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने कांट्रेक्टर के कर्मचारियों को दी चेतावनी

ग्रेटर नोएडा। केबल / पैनल को काटकर स्ट्रीट लाइटों को जलने में बाधा पहुंचाने वाले पूर्व कांट्रेक्टर के कर्मचारियों को ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने कड़ी चेतावनी दी है। अगर स्ट्रीट लाइटों की केबल/पैनल को काटा गया तो प्राधिकरण इन कर्मचारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराएगा। इस बाबत सभी वक्त सर्किल के वरिष्ठ प्रबंधकों को निर्देश दे दिए गए हैं।

ग्रेटर नोएडा की स्ट्रीट लाइट को एलईडी में कन्वर्ट करने की लिए तथा मौजूदा व्यवस्था को और बेहतर बनाने के लिए प्राधिकरण ने बीते साल सितंबर में सूर्या कंपनी को जिम्मेदारी दी गई है। कंपनी अब तक 42 हजार एलईडी स्ट्रीट लाइट लगा चुकी है। इससे पूर्व प्राधिकरण में अलग-अलग एरिया में अलग-अलग कांट्रेक्टर स्ट्रीट लाइटों का जिम्मा संभाल रहे थे। अब उन कांट्रेक्टरों के कर्मचारी मौजूदा व्यवस्था को क्षति पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं। केबलों व पैनल को काटने और स्ट्रीट लाइट बंद करने की घटना को अंजाम दे रहे हैं। प्राधिकरण ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगा। उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। जिन लोगों ने अब तक स्ट्रीट लाइट की केबल को काटकर व्यवस्था को क्षति पहुंचाई है। उनके खिलाफ प्राधिकरण शीघ्र ही थाने में तहरीर देने की तैयारी कर रहा है। सभी वर्क सर्किल के वरिष्ठ प्रबंधकों को इसके लिए निर्देश दे दिए गए हैं।वहीं सूर्या कंपनी अगले एक सप्ताह में स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था संभाल लेगी। इस मसले पर मंगलवार को ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के एसीईओ अमनदीप डुली व विद्युत अभियांत्रिकी के उप महाप्रबंधक सलिल यादव की सूर्या कंपनी के प्रतिनिधियों के साथ बैठक हुई। कंपनी ने आश्वस्त किया है कि अगले एक सप्ताह में अब तक लग चुकी 42000 एलईडी स्ट्रीट लाइटों के साथ ही पुरानी 15000 एलईडी स्ट्रीट लाइटों को भी संचालित करने लगेगी। बैठक में सूर्या कंपनी को शेष स्ट्रीट लाइटों को लगाने व डाटा सेंटर स्थापित कर संचालित करने का काम भी 30 सितंबर तक पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं

 

ग्रेनो को और हरा-भरा बनाने को जनप्रतिनिधि, अधिकारी व निवासियों ने बढ़ाए हाथ

ग्रेनो प्राधिकरण ने पहले दिन लगाए 81 हजार पौधे

 

तीन दिन में 1.28 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य

 

ग्रेटर नोएडा। एनसीआर के सबसे ग्रीन शहर ग्रेटर नोएडा को और हरा-भरा बनाने के लिए वृक्षारोपण जन आंदोलन अभियान में प्राधिकरण के साथ यहां के जनप्रतिनिधियों व निवासियों ने कदमताल मिलाया है। मंगलवार को सभी ने मिलकर ग्रेटर नोएडा में अलग-अलग जगहों पर पौधे लगाए हैं। जनसहभागिता से तीन दिवसीय वन महोत्सव के पहले ही दिन ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के उद्यान विभाग ने करीब 81 हजार पौधे लगाए गए हैं। तीन दिन में करीब 1.28 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य है।

 

जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने सेक्टर ओमीक्रॉन थ्री के डी ब्लॉक के ग्रीन बेल्ट में पौधे लगाए।

विधायक के आह्वान पर सेक्टर की महिलाएं व पुरुषों ने भी बढ़-चढ़कर पौधे लगाए। इस ग्रीन बेल्ट में अमरूद के पौधे रोपित किए गए। विधायक ने कहा कि मानव जीवन की सुरक्षा के लिए पेड़-पौधे खूब लगाएं। उसकी देखभाल करें। उन्होंने ग्रेटर नोएडा को और हरा-भरा बनाने के लिए खूब पौधे लगाने की अपील की। इस दौरान डॉ सुरेन्द्र सिंह तोमर, गजेन्द्र रावल, परविंदर बंसल, राजा मावी, सुधीर बरेला, अमित कुमार, विजय सिंह रावल आदि आरडब्ल्यूए पदाधिकारी व सेक्टरवासी मौजूद रहे। प्राधिकरण के एसीईओ दीप चंद्र और अमनदीप डुली ने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण दफ्तर के सामने ग्राउंड में मौलश्री के पौधे लगाए। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के जीएम प्रोजेक्ट एके अरोड़ा, वरिष्ठ प्रबंधक सलिल यादव व सुभाश चंद्रा, उद्यान के प्रभारी कपिल सिंह, वरिष्ठ प्रबंधक श्योदान सिंह, एके सक्सेना, बीपी सिंह, सहायक प्रबंधक गौरव बघेल व डॉ उमेश चंद्रा, प्रबंधक जितेन्द्र यादव, वैभव नागर, प्राधिकरण के एसीईओ अमनदीप डुली ने कहा कि वन महोत्सव तभी सफल होगा जब ग्रेटर नोएडा का हर निवासी इस अभियान से जुड़ेगा। उन्होंने सभी से पौधे लगाने की अपील की। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ सुरेन्द्र सिंह के निर्देश पर इस तीन दिवसीय वृक्षारोपण अभियान के तहत ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण करीब 1.28 लाख पौधे लगाएगा। ये पौधे सेक्टर थीटा, म्यू वन व टू, ज्यू वन, टू व थ्री, ओमीक्रान वन ए, वन व टू, 80 मीटर रोड, इकोटेेक वन (एक्सटेंशन), इकोटेेक 10 व 11, इकोटेेक 6, 7 व 8, 105 मीटर रोड, स्वर्णनगरी, सिग्मा टू व थ्री, रो वन व टू, नॉलेज पार्क वन, टू, थ्री व फाइव, कलाधाम व पंचवटी, चाई थ्री-फोर, फाई थ्री-फोर, गौतमबुद्ध विवि, आईटी सिटी रोड, पी थ्री, पी फोर, नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे, सेक्टर तीन, डी पार्क, टेक्जोन फोर, 45, 60 व 80 मीटर रोड आदि जगहों पर लगाए जाएंगे। पहले दिन करीब 81 हजार पौधे लगाए जाएंगे।

पौधे लगाने का उत्तरदायित्व सिर्फ सरकारी संस्थानों तक सीमित न रहे, बल्कि ग्रेटर नोएडा के हर नागरिक का कर्तव्य है कि वह कम से कम एक-एक पौधे अवश्य लगाएं और उसकी देखभाल करे। घरों की बालकनी में भी गमले में पौधे लगाएं। इससे शुद्ध हवा मिलती रहेगी।‘

सुरेन्द्र सिंह, सीईओ ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण व मंडलायुक्त मेरठ

Leave a Reply

Your email address will not be published.