सिंचाई व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए के लिए जनपद के कृषकों को सोलर पंप पर दिया जाएगा अनुदान।

गौतमबुद्धनगर:- 

सोलर पंप के अनुदान के लिए विभागीय पोर्टल पर 1 जुलाई से प्रारंभ होगी पंजीकरण प्रक्रिया।

जिला अधिकारी गौतम बुद्ध नगर सुहास एलवाई के निर्देशों के क्रम में उप कृषि निदेशक गौतम बुद्ध नगर ने जनपद के समस्त कृषकों का आह्वान करते हुए जानकारी दी है जलवायु परिवर्तन के अंतर्गत राष्ट्रीय स्तर पर कार्बन की तीव्रता कम करने, सोलर पंप की स्थापना से सिंचाई लागत को कम करने एवं विद्युत रहित क्षेत्र में उपलब्ध डीजल पंप अथवा सिंचाई के अन्य साधनों के स्थान पर सोलर पंप से सिंचाई को बढ़ावा देने के उद्देश्य से जनपद में सोलर पंप पर अनुदान की व्यवस्था की गई है, जिससे कृषकों की सिंचाई व्यवस्था को सुदृढ़ किया जा सके।


उन्होंने बताया कि सोलर ‌पंप वैकल्पिक ऊर्जा स्रोत के रूप में कृषकों के लिए उपयोगी सिद्ध हो रहा है।जनपद में 2 एच0पी0ए0सी0 (सबमर्सिबल) के 5 सोलर पंप, 2 एच0पी0डी0सी0 (सबमर्सिबल) के 5 सोलर पंप, 3 एच0पी0ए0सी0 (सबमर्सिबल) के 25 सोलर पंप, 3 एच0पी0डी0सी0 (सबमर्सिबल) के 13 सोलरपंप, 5 एच0पी0ए0सी0 (सबमर्सिबल) के 20 सोलर पंप, 7.5 एच0पी0ए0सी0 (सबमर्सिबल) के 3 सोलर पंप, 10 एच0पी0ए0सी0 (सबमर्सिबल) के 2 सोलर पंप, कुल 73 सोलर पंप स्थापित कराये जायेंगे। जनपद में(अतिदोहित एवं क्रिटिकल क्षेत्र को छोड़कर) ही योजना का लाभ कृषकों को उपलब्ध कराया जाएगा।
उन्होंने बताया कि योजना से लाभान्वित होने के लिए इच्छुक कृषक पहले आओ पहले पाओ के आधार पर विभागीय पोर्टल upagriculture.com पर 1 जुलाई 2022 से लक्ष्य पूर्ण होने तक लिंक पर क्लिक कर ऑनलाइन बुकिंग की जाएगी साथ ही सोलर पंप के लिए बुकिंग जनपदवार एवं क्षमतावार आवंटित लक्ष्य की सीमा तक ही टोकन कंफर्म होने पर कृषक अंश जमा करने के लिए निर्गत किये जाएंगे। टोकन पर कृषक का पंजीकरण संख्या, कृषक का नाम, पिता का नाम, चयनित पंप की क्षमता तथा टोकन के रूप में जमा की जाने वाली कृषक अंश की धनराशि अंकित की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.